Haryana Media
Ad


पिछले एक साल से लटका रखा है पेंशनर्स का एरियर

Kurukshetra University के 25 pension धारकों को retirement की डेट से 31-12-2019 तक का Airier की राशि न मिलने का मामला सामने आया है।September 2019 में CPF Scheme से पुरानी पेंशन स्कीम का मौका मिलने के बाद पेंशन स्कीम में शामिल हुए kurukshetra university के 25 pensioners को 4 करोड़ Rupees जमा करवाने के एक साल बाद भी pension का Airier नहीं मिल पा रहा है। प्रदेश सरकार की ओर से पुरानी पेंशन स्कीम में शामिल होने के लिए अधिसूचना जारी की गई थी। जिसके बाद नवम्बर 2019 तक CPF Scheme से पुरानी पेंशन स्कीम में शामिल होने के लिए Kurukshetra University के 63 शिक्षकों व कर्मचारियों ने आवेदन किए थे। 

इनमें से 25 कर्मचारी व शिक्षक सेवानिवृत्त हो चुके थे। ऐसे में इन सभी सेवानिवृत्त कर्मचारियों से CPF का ब्याज सहित पैसा कु.वि. प्रशासन ने पेंशन धारकों से जमा करवाया। इसके बाद 1 january 2020 से सेवानिवृत्त कर्मचारियों की मासिक पेंशन तो शुरू हो गई लेकिन कर्मचारी जिस तिथि से सेवानिवृत्त हुए थे, उसका एरियर एक साल गुजरने के बाद भी नहीं मिल पा रहा है। 

पेंशनर्स अपना एरियर पाने के लिए कई बार कु.वि.प्रशासन के अधिकारियों से मिल चुके हैं लेकिन प्रशासन की ओर से बजट आते हीएरियर देने का कोरा आश्वासन ही इन्हें अब तक दिया गया है, Airier नहीं मिल पाया। 4 करोड़ rupee करवा चुके जमा CPF से पुरानी पेंशन में जाने के लिए कर्मचारियों को CPF का पैसा ब्याज सहित जमा करवाना था।

Kurukshetra University, Kurukshetra Local News, Kurukshetra Updated News

जिसके चलते सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों ने बड़ी मुश्किल से एकमुश्त पैसा यूनिवर्सिटी में जमा करवाया। यह पैसा करीब 4 करोड़ rupees बना था। Inderjeet sing banta और joginder singh ने बताया कि पेंशन स्कीम में जाने के लिए बड़़ी मुश्किल से उन्होंने एक साथ लाखों rupees जमा करवाए। 

Kurukshetra ki taaza khabar, haryana news, haryana local news, haryana updated news, pension cell, pension news

इस दौरान उन्हें जल्द ही पेंशन के एरियर के रूप में पैसे देने की बात कही गई थी। लेकिन केवल पेंशन शुरू की गई, एरियर अब तक नहीं मिल पाया। MDU के Pensioners को मिल चुका एरियर पेंशनर इंद्रजीत सिंह बंटा ने बताया कि उन्होंने RTI लगाकर सूचना मांगी थी कि सीपीएफ से पेंशन स्कीम में आए MDU Rohtak के कर्मचारियों को एरियर का पैसा मिल चुका है या नहीं। 

इसके जवाब में एमडीयू रोहतक की ओर से सूचना दी गई कि एरियर का पैसा पेंशनर्स को जारी कर दिया गया है। pensioners ने कहा कि जब एमडीयू रोहतक अपने पेंशनर्स को एरियर दे चुकी है तो Kurukshetra University ने अपने पेंशनर्स को एक साल से क्यों लटका रखा है। 

पेंशनर्स ने कहा कि Kurukshetra University ने लगभग 4 करोड़ Rupees तो उनसे ही इकट्ठे किए हैं। ऐसे में इस पैसे में से एरियर का पैसा तो दिया ही जा सकता है।    

Kurukshetra University की इस अनदेखी के विरोध में 17 रिटायर्ड शिक्षक और कर्मचारियों ने जब अपने वकील के माध्यम से पूछा तो विश्वविद्यालय ने धन की कमी का हवाला दिया और कहा कि धन की व्यवस्था होते ही एरियर दे दिया जाएगा। 

अब इन सभी कर्मचारियों ने हाईकोर्ट की शरण ली है जिसकी सुनवाई 15 फरवरी 2021 को होगी। हाईकोर्ट के सीनियर Advocate Ashutosh Kaushik और प्रथम याचिका कर्ता 80 वर्ष के indrajeet singh banta ने बताया कि 17 रिटायर्ड कर्मचारियों ने university में लगभग 3 crore rupees जमा कराए हैं जो कि पेंशन एरियर की देय राशि का 60 प्रतिशत है। फिर भी उनका एरियर देने में विश्वविद्यालय आनाकानी कर रहा है। कु.वि. की इस कार्यप्रणाली से परेशान होकर रिटायर्ड कर्मचारियों को कोर्ट में जाना पड़ा है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here