Haryana Media
Ad


भाजपा सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों को वापिस लेने की मांग किसान करीब तीन महीनों से कर रहे हैं। अब तक किसानों के साथ हर बार बैठकों का दौर चला लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

अभी हाल ही में हरियाणा के मुख्यमंत्री ने किसानों को लेकर एक विवादित बयान दिया। उन्होंने किसानों के आंदोलन को तमाशा बताया और इस आंदोलन में धरना दे रहे किसानों को धींगा मस्ती करने वाले लोग बताया। 

इसके साथ ही कुछ किसानों पर मुकद्मे भी सरकार ने दर्ज करवाए हैं। इसके विरोध में गुरनाम सिंह चढूनी ने आह्वान किया था कि खट्टर जहां भी जाएं, ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग वहां जमा हों और उन्हें काले झंडे दिखाएं। उन्होंने उपद्रव करने से मना भी किया। 

लेकिन आज मनोहर लाल खट्टर का, कुरफ़क्षेत्र में गीता जयंती कार्यक्रम है। जिसके लिए भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी का एक वीडियो सामने आया है। इसमें उन्होंने अपील की है कि ये धार्मिक कार्यक्रम है। इसलिए आज कोई भी इस कार्यक्रम में मनोहर लाल खट्टर का विरोध न करे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here