खेती को किसानों के लिए बनाएंगे लाभकारी व्यवसाय: कृषि मंत्री दलाल
Ad

– गांवों में बिजली-पेयजल-नहरी पानी की सुविधा को सुदृढ़ करने के दिए निर्देश
– स्व-रोजगार के लिए पशुपालन व मत्स्य पालन की ओर बढ़ाएं कदम: दलाल
– कृषि मंत्री दलाल ने सुनी गोहाना के चार गांवों की जनसमस्याएं
– शामड़ी, बुसाना, छतेरा व महमूदपुर गांवों में ग्रामीणों से हुए रू-ब-रू

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण, पशुपालन और डेयरी एवं मत्स्य मंत्री जय प्रकाश दलाल ने किसानों को अत्याधुनिक तकनीकों के साथ कृषि एवं इससे जुड़े व्यवसाय करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि खेती को किसानों के लिए लाभकारी व्यवसाय के रूप में स्थापित किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने बेहतरीन योजनाएं लागू की है।
प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जय प्रकाश दलाल शुक्रवार को बरोदा हलके के गांवों के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने सभी गांवों में ग्रामीणों से  रू-ब-रू होते हुए उनकी जनसमस्याओं व मांगों की सुनवाई की। उन्होंने मौके पर ही लगभग सभी मांगों को स्वीकारते हुए संबंधित अधिकारियों को समस्याओं के समाधान के निर्देश दिए। इसकी शुरुआत उन्होंने गांव शामड़ी से की। शामड़ी के बाद उन्होंने बुसाना तथा छतेरा और महमूदपुर गांवों का भी दौरा किया।
शुरुआती सभा में शामड़ी में कृषि मंत्री दलाल ने जनसमस्याओं की सुनवाई करते हुए पशुपालन विभाग के तहत पशुपालन ऋण योजना/क्रेडिट कार्ड योजना की जानकारी ली। उन्होंने हर गांव में इस योजना की विशेष रूप से पड़ताल की।  उन्होंने संबंधित अधिकारियों से जवाब तलब किया कि किस गांव में कितने आवेदन किये गये हैं। अधिकारियों ने बताया कि शामड़ी में 335, बुसाना में 200 तथा छतेरा में करीब 215 फार्म भरे गए हैं। पशुपालन मंत्री ने अधिकारियों को मौके पर ही निर्देश दिए कि डिफाल्टरों को छोडक़र शेष सभी आवेदकों को योजना का लाभ तुरंत प्रभाव से दिया जाए।


शामड़ी के ग्रामीणों ने कृषि मंत्री से माईनर के निर्माण की मांग की, जिस पर उन्होंने मौके पर विभागीय अधिकारी को निर्देश दिए कि खुबडू नहर से शामड़ी तक माईनर के लिए एस्टीमेट तैयार कर उन्हें एक सप्ताह के भीतर प्रेषित करें। उन्होंने कड़े निर्देश दिए कि सभी गांवों में पानी व नहरी पानी की आपूर्ति प्रतिदिन होनी चाहिए। बिजली आपूर्ति को भी उन्होंने सुदृढ़ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के अंदर पानी संबंधि व्यवस्थाओं को सुधार कर उन्हें रिपोर्ट प्रेषित की जाए। ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने बिजली बिलों को दुरुस्त करने के भी निर्देश दिए। बुसाना के ग्रामीणों ने खेतों के रास्तों के निर्माण व स्कूल अपग्रेड करने की मांग की। उन्होंने खेतों के रास्ते बनाने के लिए एस्टीमेट तैयार करने के निर्देश देते हुए कहा कि स्कूल अपग्रेडेशन नियमानुसार ही होगा। नियमों में ऐसा संभव हुआ तो यह मांग जल्द पूरी की जाएगी।
कृषि मंत्री ने किसानों को आधुनिक तौर-तरीकों से कृषि करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि खेती अब घाटे का सौदा नहीं बनेगी। सरकार ने बेहतरीन योजनाएं बनाई हैं जिनका लाभ उठाकर किसान अपनी आमदनी में खासी बढ़ोतरी कर सकेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में किसान व खेती कल्याण के लिए एक से बढक़र एक योजना बनाई गई है। किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लक्ष्य की ओर तीव्रता से कदम बढ़ाये गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी प्रदेश सरकार ने मंडियों में किसानों के एक-एक दाने की खरीद की है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल का पैसा सीधा उनके खातों में जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों को समय की मांग के अनुसार आगे बढऩे की जरूरत है, जिसमें सरकार हर संभव सहयोग प्रदान करेगी।
डेयरी एवं मत्स्य मंत्री दलाल ने युवाओं को प्रोत्साहित किया कि वे केवल नौकरी तक स्वयं को सीमित रखने की ओर आगे न बढें। आज के दौर में स्व-रोजगार बेहतरीन विकल्प है। इसके लिए सरकार की कल्याणकारी ऋण योजनाओं का लाभ उठाया जा सकता है, जिन पर सब्सिडी की सुविधा भी दी गई है। उन्होंने कहा कि बागवानी, मत्स्य पालन तथा पशुपालन को स्व-रोजगार के रूप में अपनाया जा सकता है। इस मौके पर उन्होंने गांवों में कृषि विभाग की किसानों को कृषि यंत्र उपलब्ध कराने संबंधी योजना की भी समीक्षा की। उन्होंने पड़ताल की कि कितने किसानों ने रोटावेटर इत्यादि कृषि यंत्रों के लिए आवेदन किया है। उन्होंने मौके पर ही कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि हर आवेदक को रोटावेटर दिया जाए। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि गांवों में मेला आयोजित कर कृषि उपकरण/यंत्रों की प्रदर्शनी के  माध्यम से किसानों को इनके उपयोग के लिए जागरूक किया जाए। इस प्रकार के आयोजनों की रिपोर्ट भी प्रेषित करने के निर्देश दिए।
इस दौरान कृषि एवं किसान कल्याण, पशुपालन और डेयरी एवं मत्स्य मंत्री ने विभिन्न अधिकारियों को भी कड़ी चेतावनी दी। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि अधिकारीगण जनसमस्याओं के समाधान व लोगों की मांगों को पूरा करने का कार्य प्राथमिकता के आधार पर करें। यदि इस मामले में किसी भी प्रकार की कोताही बरती गई तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा उन्होंने ग्रामीणों से बरोदा उप-चुनाव में भाजपा के लिए वोट भी मांगे। उन्होंने कहा कि मतदाताओं को सोच-समझकर अपने मत का प्रयोग करना चाहिए। भाजपा की जीत बरोदा में विकास के नये आयाम स्थापित करेगी। उन्होंने विधायकों का गुणा-भाग भी ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया।
कृषि मंत्री दलाल ने इस मौके पर ग्रामीणों को विशेष रूप से कोरोना वायरस से बचाव के लिए भी जागरूक किया। उन्होंने कहा कि सरकार व जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए जाने वाले सभी दिशा निर्देशों की ईमानदारी से अनुपालना की जानी चाहिए। ऐसा करके हम स्वयं को तथा दूसरों को कोरोना से सुरक्षित रख सकते है। घर से निकलते समय तथा सार्वजनिक स्थानों पर अनिवार्य रूप से मास्क व सैनेटाईजर का प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने सामाजिक दूरी की अनुपालना की अनिवार्यता पर भी विशेष रूप से बल दिया।
इस अवसर पर भाजपा के जिलाध्यक्ष डा. धर्मबीर नांदल, बलजीत मलिक, तीर्थ राणा, मुंडलाना मंडलाध्यक्ष ओमवीर वत्स, महमूदपुर के सरपंच संजय मान, यादराम, बिजेंद्र शर्मा, डा. ओमप्रकाश, छतेरा के सरपंच मुकेश, पूर्व सरपंच नफे सिंह, पूर्व सरपंच बलवान सिंह, धर्मबीर, मामन, भलेराम, डा. दलबीर, रामकिशन, रजनीश, सूरज सिंह, रणधीर सिंह लठवाल, अनूप कुंडू, फूलकंवार जांगड़ा, सरपंच फूल सिंह, सरपंच उमेद सिंह, नरेश, हुकमचंद लठवाल, प्रेम सिंह, राजबीर, धौला, विरेंद्र आदि गणमान्य व्यक्ति तथा अधिकारीगण मौजूद थे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here